web hosting cpanel kya hai

Web hosting cpanel kya hai और cpanel features क्या है?

Web hosting cPanel के बारे में कम लोग जानते होंगे, Digital marketing के साथ जुड़े लोग जरूर परिचित होंगे और कुछ लोग digital marketing के साथ जुड़ने पर सोच रहे है और जो लोग cPanel के बारे में जानना चाहते है उनके लिए ये लेख बहुति जरुरी है.

वेब होस्टिंग खातों के लिए cPanel सबसे लोकप्रिय Linux-base कंट्रोल पैनल में से एक है. इससे आप आसानी से एक ही जगह पर सभी features का manage कर सकते हैं.

cPanel आपको वेब होस्टिंग खाते के manage का अधिकार देता है, चाहे नए FTP user और Email बनाना या monitoring resources, domain add करना और सॉफ्टवेयर इनस्टॉल करने के लिए हो.

यदि आप Web hosting cPanel के बारे और अधिक जानने की दिलचस्पी रखते है तो नीचे से पढ़ना जारी रखे, वहां आप आसानी cPanel क्या है पूरी इन्फो के बारे में share किया है.

Web hosting cPanel क्या है ?

हम अपने computer में mouse, Sound, device manager, administrative tools आदि जैसे फीचर्स का उसे करने के लिए Control panel में चले आते और देख सकते की कितने सारे features दिए है.

आप सोच सकते है की control panel से पूरा windows system mange कर सकते है. इसतरह से अपनी पूरी hosting को mange करने के लिए cpanel उपयोग में लिए जाते है.

cPanel एक यूनिक्स आधारित वेब होस्टिंग कंट्रोल पैनल है, जो एक वेब साइट की hosting की process को आसान बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया एक ग्राफिकल इंटरफ़ेस और automatic tool प्रदान करता है.

इसलिए, यह उपयोगकर्ताओं को बहुत user-friendly इंटरफेस प्रदान करता है ताकि वे आसानी से इसका उपयोग कर सकें.

Web hosting cPanel एक tier structure का उपयोग करता है जो एक स्टारडर्ड वेब ब्राउज़र के माध्यम से वेबसाइट और Server administration के अलग-अलग पहलुओं को कंट्रोल करने के लिए administrators, resellers और वेबसाइट मालिकों के लिए क्षमता प्रदान करता है.

Web hosting cPanel को खोलने के लिए hosting provider खाते बना कर access किया जाता है और cPanel को डायरेक्ट खोलने के लिए port 2083 पर https का उपयोग करके या अपने domain नाम के अंत में “https://webbloggertips.com/cpanel” जोड़कर एक्सेस किया जाता है. होस्टिंग provider के आधार पर, cPanel पर कुछ प्रकार के ऑटो इंस्टॉलर या वर्डप्रेस कन्टेंट मैनेज सिस्टम के लिए एक पैकेज होता है.

WordPress install होने के साथ यूजर अपने वर्डप्रेस होस्टिंग प्लान द्वारा दी गई, सुविधाओं का मैनेज करने के लिए Web hosting cPanel का उपयोग कर सकता है.

cPanel पर सबसे ज्यादा features में से कुछ database, domain name, mail account, backup, ssl certificate और wordpress इनस्टॉल करने के अलावा कुछ भी करना करने की जरूर नहीं होती. यदि आपके पास टेक्निकल नॉलेज नहीं तो भी आप आसानी से cPanel का उपयोग कर सकते है.

cPanel Features क्या है

online पर कई होस्टिंग प्रोवाइडर है और इसमें cpanel की डिज़ाइन और फीचर्स में थोड़ा सा अलग-अलग हो सकता है.

जब आप पहली बार लॉग इन करते हैं, तो आप कुछ metrics देख सकते हैं जो आपके resource usage (जैसे कि आपका CPU उपयोग, आपके अवेलेबल storage और आपकी memory का उपयोग होस्टिंग के हिसाब से) को लॉग करते हैं.

ये Web hosting cpanel में main चींजे में से एक है. यह आपकी वेबसाइट के सभी performance को ट्रैक करने के लिए एक उपयोगी तरीका प्रदान कर सकता है.

Web hosting cpanel hostgator, cpanel features kya hai

File Manager:

ये section आपको FTP क्लाइंट का उपयोग करने की आवश्यकता के बिना cPanel के अंदर से फ़ाइलों को सीधे अपलोड करने और मैनेज करने की अनुमति देते हैं. आप privacy levels भी कर सकते हैं, बैकअप बना सकते हैं और बहुत कुछ कर सकते हैं.

Preferences:

यह वह जगह है जहाँ आप अपने Web hosting cpanel इनस्टॉल के लेआउट को अनुकूलित करते हैं, ताकि यह आपकी आवश्यकताओं को बेहतर ढंग से फिट कर सके है. इस फीचर्स को कम यूज किया जाता है, मैंने आज 2 साल में कभी इस फीचर्स का उपयोग किया भी नहीं, यदि आपको जरूर के हिसाब से कर सकते है.

Databases:

ये काम की चीजें है, जब आप सिंगल डोमेन के साथ होस्टिंग खरीदते है तो आपको ये database बनाने की जरूर नहीं और आपके पास मल्टी domain है, तो इस database को डोमेन के हिसाब से यूजर, पासवर्ड आदि create करना पड़ता है.

यदि आपकी वेबसाइट कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम (CMS) का उपयोग करती है, तो यह डेटाबेस का उपयोग पोस्ट, सेटिंग्स और अन्य जानकारी store करने के लिए किया जाता है. ये सेक्शन उन सभी database को मैनेज करने के बारे में है जो File module शामिल है.

Web Applications:

ये सेक्शन वो परमिशन देता है इन दिए सूचि में से किस software के जरिये अपनी वेबसाइट बनाना चाहते है. ये सभी सूचि में अपने हिसाब से कोई एक software को अपने Web hosting cpanel में install कर सकते है. हम सभी जानते है की इस सूचि में से सबसे पॉवरफुल और पॉपुलर सॉफ्टवेयर वर्डप्रेस है और इसे इनस्टॉल करना भी आसान है.

Domains:

इस सेक्शन के जरिये अपने डोमेन नाम को cpanel होस्टिंग के साथ manage कर सकते है जैसा की domain add करना और delete करना, डोमेन नाम redirect करना, domain server नाम चेंज करना आदि आप इस सेक्शन से कर सकते है.

Metrics:

यदि आप एक वेबसाइट चला रहे हैं तो आप इसके performance पर नज़र रखना चाहते हैं. ये सब इन सेक्शन में देख सकते है. वे सभी आपको powerful टूल्स तक पहुंच प्रदान करते हैं जो आपकी वेबसाइट के काम करने के तरीके के बारे में बेहतर निर्णय लेने में आपकी मदद कर सकता है.

Security:

अपनी साइट को अधिक सुरक्षित रखना चाहते है तो इन security सेक्शन के जरिये अपनी वेबसाइट को सिक्योर लेयर कवच से ढंक सकते है.

Software:

ये section काफी हद तक PHP के बारे में हैं और जब तक आप अधिक advanced उपयोगकर्ता नहीं हैं, तब तक इसकी आवश्यकता नहीं है.

Advanced:

जैसा कि title से पता चलता है, ये सेटिंग्स advance उपयोगकर्ताओं के लिए भी अधिक उपयोगी हैं, मुझे नहीं लगता की इसकी जरूर पड़ सकता है.

Email:

ये हमारी काम की चीजे है. सभी वेब होस्टिंग पैकेजों में ईमेल शामिल नहीं है, लेकिन यदि आपके पैकेज में ईमेल और cPanel दोनों शामिल हैं, तो यह वह जगह है, जहाँ आप उन सभी ईमेल खातों को मैनेज कर सकते है.

अगर आप Web hosting cPanel पर नए है और  जानना चाहते है की Web hosting cPanel पर इतने सारे फीचर्स में से कौन सा सेक्शन ज्यादा या रेगुलर यूज़ किया जाता है, तो आपको बता दू की File manager, Domain, Software, Email और database इस पर ज्यादा यूज़ किया जाता है.

आपने Web hosting cPanel features के बारे में पूरा विस्तार से जान लिया और मुझे पूरी उम्मीद थी के ये लेख आपको जरूर पसंद आयेंगा. अगर आपको कोई web hosting सपनेलके बारे में कोई सवाल है तो हमे comments बॉक्स में जरूर बताये.

ये लेख को आगे सोशल मीडिया पर share जरूर करे.

Article written by Dharmesh

I am the proprietor of Dharmesh and Web Blogger Tips. This is a HIndi blog that was created in WBT 2018 and we will keep you updated with WBT, so take a Subscribe, If using social media, than Facebook and Google+ are connected to Like and Follow...

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *