http vs https

HTTP vs HTTPS kya hai और इन दोनों में अंतर क्या है

HTTP vs HTTPS क्या है आप जानते है, यदि आप blogger या digital marketing के साथ जुड़े है तो जरूर जानते होंगे. यदि नहीं तो आप इस लेख में आप अच्छे  से समझ जाओंगे. HTTP और HTTPS  ये दोनों एक इंटरनेट और वेबसाइटों के बीच डेटा को प्रसारित करने के लिए किया जाता है.

हम internet का लगातार उपयोग करते है but इसके बारे में सोचा है की ये क्या है और आप internet का इस्तेमाल करते है तभी एक site के url के आगे के क्रम में होते है. यदि आपकी साइट को हैक से बचाना चाहते है तो ये आपके लिए HTTP और HTTPS क्या है वो समझ ने की आवश्यकता है.

HTTP vs HTTPS kya hai और इन दोनों में अंतर क्या है

HTTP क्या है

एचटीटीपी का पूरा नाम है Hypertext Transfer Protocol और इंटरनेट पर HTTP rules and standards का सेट प्रदान करता है जो यह बताता है कि कैसे वर्ल्ड वाइड वेब पर किसी भी जानकारी को प्रसारित किया जा सकता है.

http kya hai

HTTP एक एप्लीकेशन लेयर नेटवर्क प्रोटोकॉल है जो TCP के ऊपर बनाया गया है और HTTP Hypertext structured text  का उपयोग करता है जो टेक्स्ट वाले नोड्स के बीच logical link स्थापित करता है. इसे “stateless protocol” के रूप में भी जाना जाता है क्योंकि पिछले run command के Reference का उपयोग किए बिना प्रत्येक कमांड को अलग से executed किया जाता है. 

HTTP कब विखसाया गया 

1989 में Tim Berners-Lee वारा HTTP का विकास शुरू किया गया था. HTTP standards Internet Engineering Task Force (IETF) और World Wide Web Consortium (W3C) co-ordinated किया गया था.

HTTPS क्या है  

HTTPS kya hai

HTTPS का पूरा नाम है Hyper Text Transfer Protocol Secure. ये HTTP का secure वर्शन है. HTTP आपको सर्वर और ब्राउज़र के बीच एक सुरक्षित encrypted connection बनाने की अनुमति भी देता है.

यह डेटा की bi-directional security प्रदान करता है.

HTTPS हमे साइट पर हैक होने से बचाता है, आपने देखा होगा की बड़ी-बड़ी साइट पर विजिट पर HTTPS जरूर देखा होगा. कई blogger अपने साइट पर domain के साथ SSL certificate खरीदते है जो HTTPS का काम करता है. HTTPS को दूसरे words से भी बुलाये जाते है SSL भी कहते है जिसका पूरा नाम secure socket layer है.

HTTP vs HTTPS में क्या अंतर है

HTTP हाइपरटेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल के लिए है, जबकि HTTPS में ‘S’ का अर्थ है कि यह एक सुरक्षित कनेक्शन है. यह अपने आप में एक सुरक्षा का provision नहीं है, यह इंगित करता है कि डेटा का प्रसारण सुरक्षित सॉकेट लेयर (SSL-जिसे सुरक्षा प्रमाणपत्र के रूप में भी जाना जाता है) का उपयोग करके सुरक्षित रूप से होता है. इसलिए नेटवर्क पर भेजी जाने वाली कोई भी चीज़ इतनी सुरक्षित रूप से की जाती है.

HTTP और HTTPS दोनों सुनिश्चित करते हैं कि present data अंतिम उपयोगकर्ता के लिए सुरक्षित है. यदि आप कल्पना करते है डाटा कैसे जाते है ये इस पर नहीं है. SSL certificate होने का अर्थ है कि वेबसाइट और उपयोगकर्ता के बीच migrate किए गए डेटा को ठीक से प्रदर्शित करने पर भी encrypted किया गया है. 

HTTP vs HTTPS बीच कोई बड़ा अंतर नहीं है सिर्फ इतना अंतर है HTTP को सुरक्षित रखने के लिए HTTP के साथ “S” last में लगा दिया. जिसे डाटा को सुरक्षिक ट्रांफर हो सके और बड़ा फायदा ये है की हैकर से भी बचाता है. इसलिए सभी sites के url HTTPS के साथ ही डील करते है और कुछ ऐसी साइट ही है जो SSL के बिना है क्योंकि SSl प्रमाणप्रत्र लेने के लिए आपको भुकतान करना पड़ता है.

यदि आप blogger पर blog बनाया है या है तो इस में free में https enable करने की अनुमति है  यदि आप चाहे तो इसे disable भी कर सकते है. 

तो आप इस लेख में http vs https में अंतर क्या है, http क्या है और https क्या है आसानी से समझ गए है और मुझे पूरी उम्मीद थी ये लेख आपको जरूर पसंद आयेंगा. इस लेख को आगे share करना न भूले ऐसी post पढ़ने के लिए subscribe करे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *