search engine optimazation kya hai, SEO what is

SEO in hindi – What is search engine optimization?

SEO क्या है? किसी sites या device का नाम नहीं, SEO किसी भी ब्लॉग, वेबसाइट, उत्पाद, सेवाओं के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण कारक है.

Search engine पर बिना SEO quality traffic blog को rank कराना बहुति मुश्किल है. Blog, Website की संख्या बढ़ रही है, लेकिन नियमित अपडेट के साथ कुछ ब्लॉग हैं, इसलिए search engine optimization अभी भी बहुत आसान है. यदि सभी ब्लॉग नियमित रूप से अपडेट किए जाते हैं, तो ऐसे कोई कीवर्ड नहीं हैं जिनकी प्रतिस्पर्धा कम है.

यदि आप blogger है या आप blogger बनना चाहते है तो SEO के बारे पूरी जानकारी होनी चाहिए, क्या आप अभी SEO के बारे जानना चाहते है. तो चलिए जानते है SEO क्या है.

SEO (Search engine optimization) kya hai 

seo kya hai

SEO का पूरा नाम search engine optimization है, SEO का काम search engine के लिए Websites को optimization करने और आपके विजिटर के हिसाब से डेटा उपलब्ध कराने का काम करना है.

यह एक एक process है जिसके माध्यम से आप अपनी वेबसाइट free, Organic और Editorial पर traffic की मात्रा बढ़ा सकते है. इसके अलावा, उपयोगकर्ता की quality, fast और navigate करना और उनकी वेबसाइटों की गुणवत्ता में वृद्धि करना आसान है.

अगर search engine की बात करते है तो सबसे पहले Google search engine काम fist पर रहेगा, इसके अलावा Yahoo, Bing, Yandex, Ask, Goo, Sogou आदि  जैसे search engine उपलब्ध है.

जब optimization की बात करे तो Website या blog को search engine पर पहले पेज पर रैंक करना, अगर आपको rank के लिए blog को optimization नहीं करोंगे तो traffic कहा से आयेगा, यदि traffic नहीं तो आय नहीं.

आपकी websites से SEO के लिए related websites का चयन किया गया है. ये कीवर्ड उस वेबसाइट से संबंधित हैं और आप उस खोज इंजन में अच्छी रैंक करना चाहते हैं. Successful search engine optimization के लिए, keywords से related चुनना महत्पूर्ण है.

यदि आप अपने ब्लॉग के Search Engine में SEO द्वारा पहली रैंक प्राप्त करना चाहते हैं, तो वे चीजें आवश्यक हैं, blog title, unique content, permalink, description, keywords density, focus keyword, Image alt, internal link, heading (H1, H2, H3, H4), tag जैसी चीजों पर निर्भर करता है. SEO के last words का mean है search engine पर इन सभी चीजों को Optimize करना.

SEO के factors 

हमे ऊपर जान लिया की SEO क्या है, अब हम search engine optimization के factors के बारे में चर्चा करेंगे. Search engine की बड़ी कंपनी Google उन algorithm को कभी दूर नहीं करेंगा जो वे sites को rank करने के लिए उपयोग करते है. जब हम search engine results page (SERP) रैंकिंग को प्रभावित करने वाले कुछ कारकों की बहुत अच्छी समझ रखते हैं. यहाँ ब्लॉग को search engine पर रैंक कराने के लिए on-page और off-page दोनों कारक शामिल हैं.

1. on page seo 

On-Page SEO वो है आपकी वेबसाइट पर होते हैं. ये ऐसी चीजें हैं, जिन पर आपका पूरा नियंत्रण है. On-Page SEO optimization website Components जैसे वेबसाइट, एचटीएमएल कोड, टेक्स्ट कंटेंट और छवियों पर डिज़ाइन किया गया है.

 On-Page SEO में मुख्य 12 चीजे शामिल है, आप अपने ब्लॉग को पेज SEO में कस्टमाइज करना चाहते हैं. तो ये चीजें आवश्यक हैं, जैसे content, title, meta tags, website speed, meta description, image tag, URL structure, responsive website, post length, sitemap, title और internal link लिंक की आवश्यकता है. ये उपर बताई सूचि on-page seo में शामिल है,

2. off page seo 

 Off-Page SEO आपकी website की पूरी “authenticity” दिखाता है और Off-Page SEO उन सभी गतिविधियों को संदर्भित करता है जो आप और अन्य अपनी वेबसाइट से अपने खोज इंजन की रैंकिंग बढ़ाने के लिए कर रहे हैं.

Backlinks एक ऑफ-पेज रणनीति की मुद्रा है, और ऑन-पेज optimization के opposite, ऑफ़-पेज optimization प्रयास वेबपेज पर स्पष्ट रूप से दिखाई नहीं देते हैं, यह बेहतर खोज परिणामों के लिए Background के रूप में काम करता है.

हाल ही में एक नया अपडेट आया है जो Google पांडा और पेंगुइन ऑफ-पेज ऑप्टिमाइज़ेशन में काफी बदल गया है. कई प्रभावी पुरानी विधियां obsolete और negative high-page संख्या वाली कई बड़ी वेबसाइटों को प्रभावित करती हैं.

अपने ब्लॉग के लिए अच्छे विकल्प बनाएं अच्छा search engine optimization के लिए अच्छे सुझाव के लिए Off-Page SEO Search Engine Submission, Bookmarking Website, Blog Commenting, Write Quality Content, Establish Good Keywords, Guest Blogging, Build Quality Links, Social Media sites आदि off page seo में शामिल है.

Search engine optimization निश्चित रूप से, खोज इंजन में उच्च रैंकिंग के लिए अपनी वेबसाइट पर driving targeted traffic का सबसे प्रभावी तरीका है. आपको बस instructions की जाँच करने और ज़रूरत के समय ऑन-पेज और ऑफ-पेज एसईओ factors के साथ अपनी वेबसाइट बनाने की आवश्यकता है.

SEO कैसे काम करता है.

जब कोई users google जैसे search engine पर एक खोजता है, तो वह जो परिणाम वह रिजल्ट देता ह, वह उन वेबसाइटों की एक series है जो query और websites के लिए संबधित है जिनके पास solid domain authority है.

उदाहरण के लिए जब आप ideas “chocolate cake ideas” की खोज करते है, तो top results वही होते हैं जो Google की आँखे में best seo optimization किया है तब पहले page और पहली सूचि में शामिल होते है.

 यह मुख्य रूप से है क्योंकि खोज इंजन advance crawlers का उपयोग करते हैं जो हर वेबसाइट पर जानकारी इकट्ठा करते हैं, हर बिट contents को इकट्ठा करते हैं जो इसे इंटरनेट पर मिल सकता है.

वो all websites लिए एक index बनाता है जिसकी तुलना उस algorithm से की जाती है जिसे Google ने best एसईओ practice के लिए बनाया गया है. यहाँ आपको ध्यान रखना है की हमारी websites या blog में optimization करना जरुरी है तब जरुरी है जब हम पहले रैंक करना चाहते है और साथ में traffic में भी वृद्धि करना चाहते है.

हमें comment में जरूर बताना की ये लेख आपको कैसे लगा और मुझे पूरी उम्मीद थी कि यह पोस्ट जरूर पसंद आएगी. इस लेख को social media पर share करना न भूले.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *